कबीर जी की दिल को छूने वाले दोहे 2021 | लकड़ी जल कोयला भई, कोयला जल भयो राख | Kumar Vishu 2021


Kabir Amritvani कबीर जी की दिल को छूने वाले दोहे 2021 | लकड़ी जल कोयला भई, कोयला जल भयो राख | Kumar Vishu 2021 Hindi Lyrics Mp3 Download

#BhaktiGaane #DevotionalSongs #HindiBhajanMp3 #BhaktiGaaneMP3 #HindiDevotional

Title : कबीर जी की दिल को छूने वाले दोहे 2021 | लकड़ी जल कोयला भई, कोयला जल भयो राख | Kumar Vishu 2021
Category Name: Lord Shiv Bhajan
Author Name: Guru Bhajan Sonotek
Publishing Year: 2021-02-21 21:30:03
Music Lenth: 00:17:19 Min
Size: 7 MB
Downloads> :MP3 (Android)|M4A (Apple)| Download Video

Songs Info : This is very beautiful bhajan कबीर जी की दिल को छूने वाले दोहे 2021 | लकड़ी जल कोयला भई, कोयला जल भयो राख | Kumar Vishu 2021 that will hear you become more energized many such Bhajan are available in Bhaktigaane, listen to yourself and also tell others and share them together to help us

Songs Info :बहुत ही सुन्दर भजन हैं जिसे सुनकर आप भाव विभोर हो जायेंगे ऐसे ही बहुत सारे भजनो का संग्रह हैं भक्तिगाने में मिलेगा , खुद भी सुने और दुसरो को भी सुनाये और साथ में शेयर कर हमें सहयोग प्रदान करे

Download this Video

कबीर जी की दिल को छूने वाले दोहे 2021 | लकड़ी जल कोयला भई, कोयला जल भयो राख | Kumar Vishu 2021

कबीर जी की दिल को छूने वाले दोहे 2021 | लकड़ी जल कोयला भई, कोयला जल भयो राख | Kumar Vishu 2021

कबीर जी की दिल को छूने वाले दोहे 2021 | लकड़ी जल कोयला भई, कोयला जल भयो राख | Kumar Vishu 2021

Singer:- Kumar Vishu
Lyrics:- Kabir
Music:- Tony Sharma

लकड़ी जल कोयला भई, कोयला जल भयो राख
मैं पापिन ऐसी जली ,कोयला भई ना राख

कोई आँसू पी कर जीता है कोई टूटे दिल को सीता है
कहीं शाम ढले कहीं चिता जले कहीं ग़म से तड़पते दीवाने
बेदर्द ज़माना क्या जाने -२

ओ मालिक तेरा कैसा आलम
यहाँ एक ख़ुशी तो लाख हैं ग़म
बारात कहीं तो कहीं मातम
क़िस्मत के अनोखे अफ़साने
बेदर्द ज़माना क्या …

काँप उठा सिंदूर माँग का वो सुहागन की रात ढली
रानी बन कर आई थी वो आज भिखारिन बन के चली
छूटा है घर जाए किधर अपने भी हुए बेगाने
बेदर्द ज़माना क्या …

उस शाम का होगा सवेरा कहाँ
ये पंछी लेगा बसेरा कहाँ
ये पवन है अगन और गरज़ता गगन
धरती भी लगी अब ठुकराने
बेदर्द ज़माना क्या …

ज़ालिम को अपने ज़ुल्मों की होती कभी पहचान भी है
इन्सान तेरी आँखों में भगवान भी है शैतान भी है
कश्ती से किनारा रूठ गया
ये धकेलती है लहर और आगे
साया भी नहीं अब पहचाने
बेदर्द ज़माना क्या …

चिंगारी से चिंगारी जले और आग से आग सुलगती है
ये बात सरासर सच्ची है कि चोट से चोट लगती है
जिन हाथों में मोतियों की लड़ियाँ
उन्में पड़ी हैं हथकड़ियाँ
अपना ही भाग लगा है आग लगाने
बेदर्द ज़माना क्या …



Download-Button1-300x157

#Hindidevotional #Hindibhajan #hindibhajan #latestbhajan #kirtan #lord #bhagwan #popularbhajan
#lyricalsongs #lyricalbhajan #Live #audio #fullHD #aarti #katha #hearttouching #devotionalsongs
#lyricalvideos #BhajanGanga #SanskarBhajan

Shree, Sri, Shri, Lord, God, Bhagwan, Jai, Jay, Karma, Peace, Value, Sanskar, Hindu, Religion,
Sect, Bhajan, Aarti, Song, Chalisa, Praise, Mantra, Meditation, Mind, Enlightenment, Devotional,
Guru, Guide, Divine, Force, Temple, Yoga, Dance, Pooja, Archana, Hare, Healing, Master, Teaching,
Sanskrit, India, Culture, Daily, Life, Prayer, Ram, Sita, Shiva, Shankar, Ganesh, Ganpati,
Krishna, Laxmi, Saraswati, Hanuman, Sai Baba, Kali, Durga, Ambe, Shreenathji, Maa, Hindi, MP3,
Download, Stotra, Vishnu, Mahalaxmi, Ramayan, Gayatri, Free, Album, Sangraha
कबीर जी की दिल को छूने वाले दोहे 2021,लकड़ी जल कोयला भई,कोयला जल भयो राख,Kumar Vishu 2021,kabir das ji ke dohe,lakdi jal koyla bhai koyla jal bhai rakh,latest kabir dohe lakdi jal koyla bhai,new hit kabir dohe 2021,2021 kumar vishu ke hit dohe,latest dohe kabir das ji ke


Pleas Like And Share This @ Your Facebook Wall We Need Your Support To Grown UP | For Supporting Just Do LIKE | SHARE | COMMENT ...


Leave a Reply