गंगा किनारे Ganga Kinare Lyrics Sing By Hansraj Raghuwanshi

गंगा किनारे Ganga Kinare

#BHAKTIGAANE #MataRaniSong #DevotionalSong #NewDevotionalSong

बम बम भोला बम बम भोला
केहि गय साधु केहि गाई कबरे
केहि गय साधु केहि गाई

क्या तेरा क्या मेरा कबीरा
सारा ये खेल है तकडेरो का

क्या धुन ले जाना सब याहि रह जाना
मिती है मूरत जीवन ओ वाणी है

गंगा किनारे चले जन
मुदके फिरि न आना

गंगा किनारे चले जन
मुदके फिरि न आना

ये जीवन तेरा लकड़ी का पुतला
ये जीवन तेरा लकड़ी का पुतला
आग लाग जार जन मुदके फेर नहि आना

मीतड़ी है मूरत जिंदी ये वाणी है
गंगा किनारे चले जन
मुदके फिरि न आना

ये जीवन तेरा माटी का पुतला
ये जीवन तेरा माटी का पुतला
मति मीन हाय मिल जाना
गंगा किनारे चले जन
मुदके फिरि न आना

मीतड़ी है मूरत जिंदी ओ वाणी है
गंगा किनारे चले जन
मुदके फिरि न आना

ये जीवन तेरा मोह के धेज
गाथ लागे तुत जाना
मुदके फिरि न आना

मीतड़ी है मूरत जिंदी ओ वाणी है
गंगा किनारे चले जन
मुदके फिरि न आना

तेरे अपने ही तुझको जलयंगे
कुच्छ दिन रोएंगे फिर भुल जयंगे
गंगा किनारे चले जन
मुदके फिरि न आना

मीतड़ी है मूरत जिंदी ओ वाणी है
गंगा किनारे चले जन
मुदके फिरि न आना

गंगा किनारे Ganga Kinare Lyrics Sing By Hansraj Raghuwanshi

Categories


Pleas Like And Share This @ Your Facebook Wall We Need Your Support To Grown UP | For Supporting Just Do LIKE | SHARE | COMMENT ...


Leave a Reply