अर्जुन से बोले एक रोज मोहन कृष्णा भजन Arjun Se Bole Ek Roj Mohan Krishna Hindi Bhajan Lyrics

अर्जुन से बोले एक रोज मोहन कृष्णा हिंदी भजन लिरिक्स



Download :MP3 | MP4 | M4R iPhone

Arjun Se Bole Ek Roj Mohan Krishna Hindi Bhajan Lyrics -HD Video Download



अर्जुन से बोले एक रोज मोहन मदन ,
भक्त संकट में आये तो मैं क्या करुं,
सीधी मुक्ति की राहें चलाई मैंने ,
वो टेढ़ी राहों पे जाए तो मैं क्या करुं….

सारी सृष्टि रची संग में माया रची ,
कर्म करने को बुद्धि और शक्ति रची,
मोह ममता में फंसकर तड़पता रहा ,
फिर मुझे भूल जाए तो मैं तो मैं क्या करुं……….

कर्म करना मनुष्यों का कर्तव्य है ,
उसमें तेरी सफलता मेरे हाथ है,
कामयाबी मिले होवे कृपा मेरी ,
वो दिल में अभिमान लाये तो मैं क्या करुं…..

राम का नाम दुनिया में अनमोल है ,
न जपे तो मनुष्य की बड़ी भूल है,
पाप करते सारी जिंदगी ढल गयी ,
सीधे आंसू बहाय तो मैं क्या करुं…..

अर्जुन वेदों पुराणों में लिखा यही ,
हरना दुखियों के दुखड़े ये भक्ति मेरी,
रात दिन वेद गीता को पढ़ता रहा ,
फिर अमल में न लाये तो मैं क्या करुं…….

कर्म अच्छे करोगे मुझे पाओगे ,
कुकर्मी बनोगे तो पछताओगे,
ज्ञान मोक्ष का अर्जुन सुनाया मैंने ,
कोई माने न माने तो मैं क्या करुं………

Arjun Se Bole Ek Roj Mohan Krishna Hindi Bhajan Lyrics -HD Video

For Free Download Click Here Arjun Se Bole Ek Roj Mohan Krishna Hindi Bhajan Lyrics Download

 Arjun Se Bole Ek Roj Mohan Krishna Hindi Bhajan Lyrics

Leave a Reply