बाँसुरी बजा दो ओ कान्हा Basuri Baja Do O Kanha Lyrics Sing By Amar Seth Ujjawal

बाँसुरी बजा दो ओ कान्हा Basuri Baja Do O Kanha

#BhaktiGaane #LordKrishnaSong #DevotionalSongs

बाँसुरी बजा दो ओ कान्हा Basuri Baja Do O Kanha Lyrics Sing By Amar Seth Ujjawal

Title : बाँसुरी बजा दो ओ कान्हा Basuri Baja Do O Kanha
Album Name: Basuri Baja Do O Kanha
Lyrics Written By: Raj Kumar Raj
Singer Name:Amar Seth Ujjawal
Publishing Year:2019
Music Lenth: 4:50
Size:7 MB

 

Songs Info : बहुत ही सुन्दर भजन हैं जिसे सुनकर आप भाव विभोर हो जायेंगे ऐसे ही बहुत सारे भजनो का संग्रह हैं भक्तिगाने में मिलेगा , खुद भी सुने और दुसरो को भी सुनाये और साथ में शेयर कर हमें सहयोग प्रदान करे

यमुना के तट पर जैसे भजाते थे,
अपनी राधा को मोहन कैसे भूलते थे,
हमको भी धुन वो सुना दो कान्हा जी जरा बांसुरी बजा दो,

हम भी जने वो कान्हा उस धुन में कैसी जादू थी,
जिसको सुन के राधा जी हो जाती बेकाबू थी,
हम भी तो देखे कैसे जादू चलते थे,
कैसे मुरली बजा के राधा को नाचते थे,
हम को भी जद्दू सीखा दो कान्हा जी जरा बांसुरी बजा दो,

सुनते है वृद्धावन में तुम खूब रास रचाते थे,
यमुना तट पे गोपियों को कान्हा खूब सताते थे
मोहन जी घर जाके जब डांट खाते थे,
अपनी मियां से क्या बहाना बनाते थे,
हम को बहाना वो बता दो कान्हा जी जरा बांसुरी बजा दो,

मेरो कन्हियान प्यारे मोहन इक ही अरमान है,
हम को कुछ न चाहिए बस सुन नी मुरली की तान है ,
दर पे बैठे है अमर उज्वल और राजू,
संतो से पांडेय जी हुए बेकाबू,
हम सब की ईशा पुगा दो कान्हा जी जरा बांसुरी बजा दो,

Download-Button1-300X157

Leave a Reply