Shadow

आरती कीजै हनुमान लला की – हनुमान भजन हिंदी लिरिक्स

Aarti Kije Hanuman Lala Ki

#BhaktiGaane #LordHanumanSong #DevotionalSongs

Title : Aarti Kije Hanuman Lala Ki
Album Name: Aarti Kije Hanuman Lala Ki
Lyrics Written By: Traditional
Singer Name: Pt Somnath Sharma
Publishing Year: 2020
Music Lenth: 7:36
Size: 10 MB

 

 

Songs Info : बहुत ही सुन्दर भजन हैं जिसे सुनकर आप भाव विभोर हो जायेंगे ऐसे ही बहुत सारे भजनो का संग्रह हैं भक्तिगाने में मिलेगा , खुद भी सुने और दुसरो को भी सुनाये और साथ में शेयर कर हमें सहयोग प्रदान करे

आरती कीजै हनुमान लला की |
दुष्ट दलन रघुनाथ कला की ||
आरती कीजै हनुमान लला की |
दुष्ट दलन रघुनाथ कला की ||

राम राम राम
जय जय राम |
राम राम राम
जय जय राम ||

जाके डर से गिरिवर कांपे |
रोग दोष जाके निकट न झांके ||
अंजनि पुत्र महा बलदाई |
संतन के प्रभु सदा सहाई ||

आरती कीजै हनुमान लला की |
दुष्ट दलन रघुनाथ कला की ||
आरती कीजै हनुमान लला की |
दुष्ट दलन रघुनाथ कला की ||

राम राम राम
जय जय राम |
राम राम राम
जय जय राम ||

दे बीरा रघुनाथ पठाए |
लंका जायी सिया सुधि लाए ||
लंका सो कोट समुद्र सीखाई |
जात पवन सुत बार न लाई ||

आरती कीजै हनुमान लला की |
दुष्ट दलन रघुनाथ कला की ||
आरती कीजै हनुमान लला की |
दुष्ट दलन रघुनाथ कला की ||
राम राम राम
जय जय राम |
राम राम राम
जय जय राम ||

लंका जारि असुर संहारे |
सियाराम जी के काज सवारे ||
लक्ष्मण मूर्छित पड़े सकारे |
आनि संजीवन प्राण उबारे ||

आरती कीजै हनुमान लला की |
दुष्ट दलन रघुनाथ कला की ||
आरती कीजै हनुमान लला की |
दुष्ट दलन रघुनाथ कला की ||
राम राम राम
जय जय राम |
राम राम राम
जय जय राम ||

पैठी पाताल तोरि जम कारे |
अहिरावण की भुजा उखारे ||
बाएं भुजा असुर दल मारे |
दाहिने भुजा संत जन तारे ||

आरती कीजै हनुमान लला की |
दुष्ट दलन रघुनाथ कला की ||
आरती कीजै हनुमान लला की |
दुष्ट दलन रघुनाथ कला की ||
राम राम राम
जय जय राम |
राम राम राम
जय जय राम ||

सुर नर मुनि आरती उतारें |
जय जय जय हनुमान उचारें ||
कंचन थार कपूर लौ छाई |
आरती करत अंजना माई ||

आरती कीजै हनुमान लला की |
दुष्ट दलन रघुनाथ कला की ||
आरती कीजै हनुमान लला की |
दुष्ट दलन रघुनाथ कला की ||
राम राम राम
जय जय राम |
राम राम राम
जय जय राम ||

कंचन थार कपूर लौ छाई |
आरती करत अंजना माई ||

जो हनुमान जी की आरती गावे |
बसी बैकुंठ परम पद पावे ||
आरती कीजै हनुमान लला की |
दुष्ट दलन रघुनाथ कला की ||
आरती कीजै हनुमान लला की |
दुष्ट दलन रघुनाथ कला की ||
राम राम राम
जय जय राम |
राम राम राम
जय जय राम |
राम राम राम
जय जय राम |
राम राम राम
जय जय राम ||

Download-Button1-300x157


Pleas Like And Share This @ Your Facebook Wall We Need Your Support To Grown UP | For Supporting Just Do LIKE | SHARE | COMMENT ...


Leave a Reply