जगत के रंग क्या देखूं तेरा दीदार काफी है Jagat Ke Rang Kya Dekhu Tera Deedar Kafi Hai कृष्णा हिंदी भजन लिरिक्स

जगत के रंग क्या देखूं तेरा दीदार काफी है Jagat Ke Rang Kya Dekhu Tera Deedar Kafi Hai कृष्णा हिंदी भजन लिरिक्स

Jagat Ke Rang Kya Dekhu Tera Deedar Kafi Hai Krishna Hindi Bhajan Lyrics



Singer By: Shailendra Bhartti & Kavita Raam
Lyrics By : Traditional

जगत के रंग क्या देखूं, तेरा दीदार काफी है Jagat Ke Rang Kya Dekhu Tera Deedar Kafi Hai कृष्णा हिंदी भजन लिरिक्स Sung By : Shailendra Bhartti & Kavita Raam This version of song is written by Traditional जगत के रंग क्या देखूं, तेरा दीदार काफी है Jagat Ke Rang Kya Dekhu Tera Deedar Kafi Hai कृष्णा हिंदी भजन लिरिक्स Publisher : Nova Spiritual India It is written very beautifully, if you like this song, then share it with others, share it with your friends or Facebook or Whatsapp and give us support.

Download :MP3 | MP4 | M4R


जगत के रंग क्या देखूं, तेरा दीदार काफी है Jagat Ke Rang Kya Dekhu Tera Deedar Kafi Hai कृष्णा हिंदी भजन लिरिक्स -HD Video


Songs Info : बहुत ही सुन्दर गाना हैं जगत के रंग क्या देखूं, तेरा दीदार काफी है Jagat Ke Rang Kya Dekhu Tera Deedar Kafi Hai कृष्णा हिंदी भजन लिरिक्स | जगत के रंग क्या देखूं, तेरा दीदार काफी है Jagat Ke Rang Kya Dekhu Tera Deedar Kafi Hai कृष्णा हिंदी भजन लिरिक्स जिसे लिखा हैं Traditional और गया हैं Shailendra Bhartti & Kavita Raam बहुत ही सुन्दर तरह से लिखा गया हैं अगर ये गाना आपको अच्छा लगा तो दुसरो के साथ भी शेयर करे अपने दोस्तों या Facebook या Whatsapp पर शेयर करे और हमें सहयोग प्रदान करे .



जगत के रंग क्या देखूं, तेरा दीदार काफी है
क्यों भटकूँ गैरों के दर पे, तेरा दरबार काफी है

नहीं चाहिए ये दुनियां के, निराले रंग ढंग मुझको
निराले रंग ढंग मुझको
चली जाऊँ मैं वृंदावन
चली जाऊँ मैं वृंदावन, तेरा श्रृंगार काफी है
जगत के रंग क्या देखूं, तेरा दीदार काफी है

जगत के साज बाजों से, हुए हैं कान अब बहरे
हुए हैं कान अब बहरे
कहाँ जाके सुनूँ बंशी
कहाँ जाके सुनूँ बंशी, मधुर वो तान काफी है
जगत के रंग क्या देखूं, तेरा दीदार काफी है

जगत के रिश्तेदारों ने, बिछाया जाल माया का
बिछाया जाल माया का
तेरे भक्तों से हो प्रीति
तेरे भक्तों से हो प्रीति, श्याम परिवार काफी है
जगत के रंग क्या देखूं, तेरा दीदार काफी है

जगत की झूटी रौनक से, हैं आँखें भर गयी मेरी
हैं आँखें भर गयी मेरी
चले आओ मेरे मोहन
चले आओ मेरे मोहन, दरश की प्यास काफी है

जगत के रंग क्या देखूं, तेरा दीदार काफी है
क्यों भटकूँ गैरों के दर पे, तेरा दरबार काफी है
जगत के रंग क्या देखूं, तेरा दीदार काफी है
क्यों भटकूँ गैरों के दर पे, तेरा दरबार काफी है

जगत के रंग क्या देखूं, तेरा दीदार काफी है Jagat Ke Rang Kya Dekhu Tera Deedar Kafi Hai कृष्णा हिंदी भजन लिरिक्स -HD Video

For Free Download Click Here जगत के रंग क्या देखूं, तेरा दीदार काफी है Jagat Ke Rang Kya Dekhu Tera Deedar Kafi Hai कृष्णा हिंदी भजन लिरिक्स Download

जगत के रंग क्या देखूं, तेरा दीदार काफी है Jagat Ke Rang Kya Dekhu Tera Deedar Kafi Hai कृष्णा हिंदी भजन लिरिक्स

Categories


Pleas Like And Share This @ Your Facebook Wall We Need Your Support To Grown UP | For Supporting Just Do LIKE | SHARE | COMMENT ...


Leave a Reply