जटा से श्री गंगा बेहती Jata Se Shri Ganga Bahti Lyrics Sing By Divya Shakti

जटा से श्री गंगा बेहती Jata Se Shri Ganga Bahti

#BhaktiGaane #LordShivSong #DevotionalSongs

जटा से श्री गंगा बेहती Jata Se Shri Ganga Bahti Lyrics Sing By Divya Shakti

Title : जटा से श्री गंगा बेहती Jata Se Shri Ganga Bahti
Album Name:Jata Se Shri Ganga Bahti
Lyrics Written By: Vimlendu Jha
Singer Name: Divya Shakti
Publishing Year: 2019
Music Lenth: 5:06
Size: 7 MB

Songs Info : बहुत ही सुन्दर भजन हैं जिसे सुनकर आप भाव विभोर हो जायेंगे ऐसे ही बहुत सारे भजनो का संग्रह हैं भक्तिगाने में मिलेगा , खुद भी सुने और दुसरो को भी सुनाये और साथ में शेयर कर हमें सहयोग प्रदान करे

त्रिपुरारी वृषभ की सवारी जटा से श्री गंगा बेहती,
जटा से श्री गंगा बेहती जटा से श्री गंगा बेहती,

जिसने सागर का सारा विष पी लिया,
बन के किरात अर्जुन को वर दे दिया,
भागम धारी वैकुण्ठ के पुजारी,
जटा से श्री गंगा बेहती…….

नितय तांडव करते है नटराज शिव,
रुदर बन कर करते है संहार शिव,
करते है पूजा शिव के जैसा न दूजा,
जटा से श्री गंगा बेहती……

रहते पर्वत पे बिना घर द्वार के,
मिले लोहित दिगंबर निराकार ये,
त्रिपुरारी विशश्वर जटा धारी,
जटा से श्री गंगा बेहती,

Download-Button1-300X157

Leave a Reply