पता नहीं किस रूप में आकर नारायण मिल जाएगा राम भजन Pata Nahi Kis Roop Me Aakar Narayan Mil Jayega Ram Hindi Bhajan Lyrics

पता नहीं किस रूप में आकर नारायण मिल जाएगा राम हिंदी भजन लिरिक्स



Download :MP3 | MP4 | M4R iPhone

Pata Nahi Kis Roop Me Aakar Narayan Mil Jayega Ram Hindi Bhajan Lyrics -HD Video Download



पता नहीं किस रूप में आकर नारायण मिल जाएगा,
निर्मल मन के दर्पण में वह राम के दर्शन पाएगा……….

नर शरीर अनमोल रे प्राणी प्रभु कृपा से पाया है,
झूठे जग प्रपंच में पड़ कर क्यों प्रभु को बिसराया है,
समय हाथ से निकल गया तो,
समय हाथ से निकल गया तो सिर धुन धुन पछतायेगा,
निर्मल मन के दर्पण में वह राम के दर्शन पाएगा,
पता नहीं किस रूप में आकर नारायण मिल जाएगा,
निर्मल मन के दर्पण में वह राम के दर्शन पाएगा……….

दौलत का अभिमान है झूठा यह तो आनी जानी है,
राजा रंक अनेक हुए कितनो की सुनी कहानी है,
राम नाम प्रिय महामंत्र ही,
राम नाम प्रिय महामंत्र ही साथ तुम्हरे जायेगा,
निर्मल मन के दर्पण में वह राम के दर्शन पाएगा,
राम नाम के साबुन से जो,
राम नाम के साबुन से जो मन का मैल छुड़ाएगा,
निर्मल मन के दर्पण में वह राम के दर्शन पाएगा ,
पता नहीं किस रूप में आकर नारायण मिल जाएगा,
निर्मल मन के दर्पण में वह राम के दर्शन पाएगा……….

Pata Nahi Kis Roop Me Aakar Narayan Mil Jayega Ram Hindi Bhajan Lyrics -HD Video

For Free Download Click Here Pata Nahi Kis Roop Me Aakar Narayan Mil Jayega Ram Hindi Bhajan Lyrics Download

Pata Nahi Kis Roop Me Aakar Narayan Mil Jayega Ram Hindi Bhajan Lyrics

Leave a Reply