Tag: 2017 Full Mp3 Lyrics By Jaya Kishori Ji

मेरे नैनं में श्याम समायेगो || Mere Nainan Mein Shyam Samayego Krishna Bhajan Full Hindi Lyrics By Jaya Kishori Ji

मेरे नैनं में श्याम समायेगो || Mere Nainan Mein Shyam Samayego Krishna Bhajan Full Hindi Lyrics By Jaya Kishori Ji

श्री कृष्ण भक्ति गीत
#BHAKTIGAANE Lyrics Name:मेरे नैनं में श्याम समायेगो Singer Name:Jaya Kishori Ji Album Name :Krishna Bhajan Published Year:2017 File Size:6:MB Time Duration:4:34 View In English Lyrics काजल तोह किरकिरे करे और सुरमो फैल्यो जाए ई नैनं में कुन बसे जा नैनं श्याम समाये मेरे नैनं में श्याम समायेगो , मोहे प्रेम को रोग लगायेंगो मेरे नैनं में श्याम समायेगो , मोहे प्रेम को रोग लगायेंगो मेरे नैनं में श्याम समायेगो , मोहे प्रेम को रोग लगायेंगो मेरे नैनं में श्याम समायेगो , मोहे प्रेम को रोग लगायेंगो लूट जाउंगी , लूट जाउंगी श्याम टोरी लटकन पे , ओह लूट जाउंगी श्याम टोरी लटकन पे मिट जाउंगी श्याम टोरी मटकन पे , मिट जाउंगी श्याम टोरी मटकन पे ओह वो तो मधुर मधुर मुस्कायेगो , ओह वो तो मधुर मधुर मुस्कायेगो मोहे प्रेम को रोग लगायेंगो , मेरे नैनं में श्याम समायेगो , मोहे प्रेम को...
थारे झांझ नगाड़ा बाजे रे || Thare Jhanj Nagada Baje Re Bajrangbali Bhajan Full Hindi Lyrics By Jaya Kishori Ji, Chetna Sharma

थारे झांझ नगाड़ा बाजे रे || Thare Jhanj Nagada Baje Re Bajrangbali Bhajan Full Hindi Lyrics By Jaya Kishori Ji, Chetna Sharma

श्री हनुमान जी भक्ति गीत
#BHAKTIGAANE Lyrics Name:थारे झांझ नगाड़ा बाजे रे Singer Name:Jaya Kishori Ji, Chetna Sharma Album Name:Bajrangbali Bhajan Published Year:2017 File Size:3:MB Time Duration:2:9 View In English Lyrics थारे झांझ नगाड़ा बाजे रे, बाजे रे सालासर के मंदिर में हनुमान विराजे रे थारे झांझ नगाड़ा बाजे रे, बाजे रे सालासर के मंदिर में हनुमान विराजे रे भारत राजस्थान में जी सालासर एक धाम सूरज स्यामी बनो देवरो , महिमा अपरम्पार भारत राजस्थान में जी सालासर एक धाम सूरज स्यामी बनो देवरो , महिमा अपरम्पार थारे लाल ध्वजा पहरावे रे , पहरावे रे सालासर के मंदिर में हनुमान विराजे रे थारे लाल ध्वजा पहरावे रे , पहरावे रे सालासर के मंदिर में हनुमान विराजे रे नारेला री गिनती कोणी , सुवरन छात्र अपार दूर देश से दर्शन करने , आवे नर और नार नारेला री गिनती कोणी , सुवरन छात्र अपार दूर देश से...