तेरी मिट्टी में मिल जवां Teri Mitti Me Mil Java Kesariya Desh Bhakti Songs

Teri Mitti Me Mil Java Kesariya Desh Bhakti Songs

तेरी मिट्टी में मिल जवां Desh Bhakti Songs



Singer By: B Praak
Lyrics By : Manoj Muntashir

Teri Mitti Me Mil Java Kesariya Desh Bhakti Songs Sung By : B Praak This version of song is written by Manoj Muntashir Teri Mitti Me Mil Java Kesariya Desh Bhakti Songs Publisher : Zee Music It is written very beautifully, if you like this song, then share it with others, share it with your friends or Facebook or Whatsapp and give us support.

Download :MP3 | MP4 | M4R


Teri Mitti Me Mil Java Kesariya Desh Bhakti Songs -HD Video


Songs Info : बहुत ही सुन्दर गाना हैं Teri Mitti Me Mil Java Kesariya Desh Bhakti Songs | तेरी मिट्टी में मिल जवां Desh Bhakti Songs जिसे लिखा हैं Manoj Muntashir और गया हैं B Praak बहुत ही सुन्दर तरह से लिखा गया हैं अगर ये गाना आपको अच्छा लगा तो दुसरो के साथ भी शेयर करे अपने दोस्तों या Facebook या Whatsapp पर शेयर करे और हमें सहयोग प्रदान करे .



तलवारों पे सर वार दीये
अंगारों में जिस्म जलया है..
तब जा के कहीं हमने सर पे
ये केसरी रंग सजया है..!!!

ऐ मेरी ज़मीन, अफ्सोस नहीं, जो तेरे लिए सौ दर्द साहे..
महफूज रहे, तेरी आन सदा, चाहे जान मेरी ये रहे ना रहे..

ऐ मेरी ज़मीन, महबूब मेरी, मेरी नास-नस में तेरा इश्क बहे
फीका ना पाए कभी रंग तेरा, जिस्मों से निकल के खून कहे..

तेरी मिट्टी में मिल जवां
गुल बन के मैं खिल जवां
इतनी सी है दिल की… आरजू..

तेरी नादियों में बह जवां ..
तेरी फैसलों में लहरवां..
इतनी सी है दिल की… आरज़ू….!!!

सरसों से भरे, वो खेत मेरे, जहां झूम के भंगड़ा पा न सका..
आबाद रहे, वो गाव मेरा, जहां लौट के वापस जा न सका..

ओ वतना वे, मेरे वतना वे, तेरा मेरे प्यार निराला था..
कुर्बान हुआ, तेरी अस्मत पे, मैं कितना नसीबों वाला था..

तेरी मिट्टी में मिल जवां
गुल बन के मैं खिल जवां
इतनी सी है दिल की… आरजू..

तेरी नादियों में बह जवां ..
तेरी खेतो में लहरावां..
इतनी सी है दिल की… आरज़ू….!!!

ओ हीर मेरी, तू हस्ती रहे, तेरी आंख घडी भर नाम न हो
मैं मरता था, जिस मुखड़े पे, कभी उसका उजाला कम ना हो..
ओ माई मेरी, क्या फिरा तुझे, क्यों आंख से दरिया बहता है..
तू कहती थी, तेरा चांद हूं मैं, और चांद हमेशा रहता है..

तेरी मिट्टी में मिल जवां
गुल बन के मैं खिल जवां
इतनी सी है दिल की… आरजू..

तेरी नादियों में बह जवां..
तेरी फसलों में लहरवां..
इतनी सी है दिल की… आरज़ू….!!!

Talwaaron pe sar waar diye
Angaaron me jism jalaya hai..
Tab jaa ke kahin humne sar pe
Ye Kesari rang sajaya hai..!!!

Ae meri zameen, afsos nahin, jo tere liye sau dard sahe..
Mahfooz rahe, teri aan sadaa, chahe jaan meri ye rahe na rahe..

Ae meri zameen, mahboob meri, meri nas-nas mein tera Ishq bahe
Pheeka na pade kabhi rang tera, jismon se nikal ke khoon kahe..

Teri mitti me mil jaawaan
Gul ban ke main khil jaawaan
Itni si, hai dil ki… aarzu..

Teri nadiyon mein bah jaawaan..
Teri faslon me lahraawaan..
Itni si, hai dil ki… aarzu….!!!

Sarson se bhare, wo khet mere, jahan jhoom ke bhangdaa paa na saka..
Aaabad rahe, wo gaanw mera, jahan laut ke wapas jaa na saka..

O watna ve, mere watna ve, tera mera pyaar niralaa thaa..
Qurbaan hua, teri asmat pe, main kitna naseebon wala thaa..

Teri mitti mein mil jaawaan
Gul ban ke main khil jaawaan
Itni si, hai dil ki… aarzu..

Teri nadiyon mein bah jaawaan..
Teri Kahiton me lahraawaan..
Itni si, hai dil ki… aarzu….!!!

O heer meri, tu hasti rahe, teri aankh ghadi bhar nam na ho
Main marta tha, jis mukhde pe, kabhi uska ujala kam na ho..
O maayi meri, kya fikra tujhe, kyun aankh se dariya bahta hai..
Tu kahti thee, tera chaand hoon main, aur chaand humesha rahta hai..

Teri mitti me mil jaawaan
Gul ban ke main khil jaawaan
Itni si, hai dil ki… aarzu..

Teri nadiyon me bah jaawaan..
Teri faslon me lahraawaan..
Itni si, hai dil ki… aarzu….!!!

Teri Mitti Me Mil Java Kesariya Desh Bhakti Songs -HD Video

For Free Download Click Here Teri Mitti Me Mil Java Kesariya Desh Bhakti Songs Download

Teri Mitti Me Mil Java Kesariya Desh Bhakti Songs

Categories


Pleas Like And Share This @ Your Facebook Wall We Need Your Support To Grown UP | For Supporting Just Do LIKE | SHARE | COMMENT ...


Leave a Reply